कोरोना काल में नौकरी से नदारद, पुलिस कर्मियों पर मामला दर्ज

बोरिवली पुलिस थाने में 6 पुलिसकर्मियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है, जो बोरिवली पुलिस थाने से जुड़े हैं। पिछले दो महिनों से कोविड-19 की विकट परिस्थिति में ड्यूटी पर हाजिर न होकर ये पुलिसकर्मी अपनी मनमानी कर रहे थे। पिछले महीने ऐसे ही मामले में गोरेगांव (पूर्व) के वनराई पुलिस थाने में स्टेट रिजर्व पुलिस दल के 17 कर्मचारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई थी। कोरोना संकट के दौरान बार-बार चेतावनी देने के बावजूद ड्यूटी पर हाजिर नहीं हो रहे थे।
ताजा मामले के मुताबिक, शनिवार को बोरिवली पुलिस थाने में तैनात एक महिला एवं 5 अनय पुलिस कर्मियों के खिलाफ महाराष्ट्र पुलिस कानून की धारा-145 एवं आपदा प्रबंधन अधिनियम कानून की धारा-56 के तहत एफआईआर दर्ज की गई। पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, इसमें से कुछ ‘लॉकडाउन’ के पहले छुट्टी पर गए हुए थे और कुछ ‘लॉकडाउन’ जारी किए जाने के बाद निकल गए। हालांकि, अवकाश अवधि समाप्त होने के बावजूद वे वापस नहीं आए इसलिए उन्हें नोटिस दिया गया, जिसे उन सभी ने अनदेखा कर दिया। एक पुलिस अधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि मुंबई पुलिस पिछले कई महीनों से काफी सारी नई और भारी जिम्मेदारियों के साथ ही ‘कोरोना वायरस’ जैसी प्राकृतिक आपदा से जूझ रही है। कितने ऐसे पुलिसकर्मी हैं जिन्हें आराम न मिल पाने के कारण अस्पताल में भर्ती होना पड़ा। जबकि हमने अपने कुछ साथियों को इस भयंकर महामारी के संकट में खो दिया। कुछ पुलिसकर्मी वायरस को मात देकर वापस ड्यूटी पर हाजिर हुए। ऐसी विकट घड़ी में जब हमारे पास कर्मचारियों की कमी है। ऐसे में इन लोगों का अपनी जिम्मेदारी को अनदेखा करना ये बिलकुल भी सही नहीं है। बोरिवली पुलिस के एक अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि ‘पुलिस कर्मचारियों के ड्यूटी पर हाजिर नहीं होने को लेकर हमने उन्हें नोटिस जारी की थी, जिसको सभी ने अनदेखा कर दिया। इस पर उच्च अधिकारियों को सूचित किया गया और उनके निर्देश दिए जाने के बाद मामला दर्ज किया गया। उन्होंने यह भी कहा कि ‘देश के सबसे बड़े पुलिस विभाग में महाराष्ट्र एक ऐसा राज्य है, जिसके पास लगभग 35 जिला पुलिस ईकाइयां हैं। महाराष्ट्र पुलिस विभाग में लगभग 1.95 लाख की ताकत है, जिसमें 15,000 महिला अधिकारी शामिल हैं।’
बता दें कि मुंबई सहित पूरे महाराष्ट्र में 4,200 से अधिक पुलिसकर्मी कोविड-19 से संक्रमित हो गए और लगभग 3,000 रिकवर हुए हैं, जबकि 58 पुलिस अधिकारियों ने अपनी जान गंवाई है। जिसमें अब तक मुंबई शहर के 2,634 पुलिसकर्मी कोविड-19 से संक्रमित हो गए थे। जिनमें से 1,979 पूरी तरह से ठीक हो गए और 1,110 पुलिस पहले ही अपना कर्तव्य पूरा कर चुके हैं। लगभग 1,486 पुलिसकर्मी अभी भी उपचाराधीन हैं, जबकि 38 पुलिस अधिकारियों ने दम तोड़ दिया। महाराष्ट्र के कुल 58 पुलिसकर्मियों में 38 मुंबई के हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *